मंगलवार, 25 फ़रवरी 2014

महाशिवरात्रि पर विशेष





















रक्षा की ब्रह्मांड की, किया गरल का पान।
शरण हमें भी दिजिए, हे शंकर भगवान।
आदिदेव हैं आप ही, नाथों के हैं नाथ,
त्राण दिलाता कष्ट से, नित्य आपका ध्यान॥

5 टिप्‍पणियां:

  1. आशुतोष ..शिवशंकर शंभू........महाशिवरात्रि की शुभ कामनाएं ....

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. सादर आभार आदरणीया अदिति पूनम जी। आपको भी हार्दिक शुभकामनाएं....

      हटाएं
  2. उत्तर
    1. सादर आभार आदरणीय कालीपद प्रसाद जी..........

      हटाएं