गुरुवार, 8 नवंबर 2012

हाइकु बक्सा : रक्षाबंधन


१. भाई-बहिन
बाँटें प्यार ही प्यार
राखी के दिन

२. खुशी की घड़ी
न्यारी थाली सजाये
बहना खड़ी

३. अक्षत-रोली
आरती-मिठाईयाँ
हंसी-ठिठोली

४. रंग-बिरंगी
चटख सतरंगी
चमके राखी

५. नहा-धोकर
नए वस्त्र पहने
भईया बैठा

६. हुई आरती
लगा माथे पे टीका
बंधेगी राखी

७. ये बंधी राखी
मुंह में गया लड्डू
अब नेग दो

८. भैया का पर्स
छीन भागी छुटकी
देखो शैतानी

९. भैया भी हंसा
लुटाया खूब प्यार
वाह क्या पर्व

१०. दीदी कहती
आज देना पड़ेगा
वर्ना मारुँगी

११. यही माहौल
ऐसे-ऐसे उत्सव
काश रोज हों

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें